Coronavirus नाम कैसे आया, जाने कहां से आया यह जानलेवा वायरस

कोरोना वायरस ने आज देश ही नही बल्कि पूरी दुनिया को गंभीर स्थिति मे डाल दिया है। पूरी दुनिया आज कोरोना वायरस नाम के रोग से बचने के उपाय को ढूंढ़ रही है। आज हम आपको इसी जानलेवा वायरस के बारे मे कुछ जानकारी देने वाले है।   

आज हम आपको बताने वाले है कि कोरोना वायरस की उत्पत्ति कैसे हुई। साथ ही हम आपको बताएंगे कि "Coronavirus आया कैसे'। 

कोरोना वायरस कहाँ से आया?

आज पूरी दुनिया जान ना चाहती है कि आखिर इतनी जानलेवा बीमारी पैदा कहां से हुई। साथ ही सब के मन मे यह प्रश्न भी होगा कि "कोरोना वायरस" इंसान के शरीर मे दाखिल कैसे हुआ। 

Coronavirus kya hai

मेडिकल रिपोर्ट्स से यह सामने आया है कि Corona एक ऐसा वायरस है जो कुछ खास जानवरों या पंछियों मे पाया जाता है। यह वायरस मुख्य रूप से चमगादड़ों और साँप जैसे जीव मे देखा जाता है। चीन और बाकी कई देशों मे चमगादड़ के सुप और ऐसी dishes बोहोत ही प्रचलित है। और माना जा रहा है कि इसी वजह से कोरोना वायरस मानव शरीर मे आया है।

साथ ही यह वायरस ने इंसानी शरीर मे  खुद को इस काबिल बना दिया है कि अब यह वायरस आराम से जीवित रह सकता है। साथ ही यह वायरस एक इंसान से दुसरे इंसान मे भी  जा सकता है। यह बात आज सभी डाक्टर्स, और मेडिकल टीम की परेशानी बानी हुई है।

कोरोना वायरस नाम कहाँ से आया?

दुनिया के सभी पढे लिखे लोगों के मन मे आज सवाल है कि इस वायरस का नाम "Corona" ही क्यों रखा है। तो हम आपको बतादें कि यह शब्द सूर्य ग्रहण से संबंधित शब्द है। 

Coronavirus kaise aaya

जब सूर्य को ग्रहण लगता है, उस वक्त पृथ्वी पूरी तरह से सूर्य को ढक देती है। लेकिन सूर्य की किरणें पृथ्वी के आसपास फिर भी दिखाई देती है। (यह किरणों से बनती आकृति, सूर्यमुखी के फुल के जैसे नजर आती है।) पृथ्वी के आसपास नज़र आती इस रोशनी को कोरोना (Corona) नाम से जाना जाता है। कोरोना वायरस की बनावट भी कुछ इस तरह की ही है। 

वायरस का आकार गोल है और उसके आसपास प्रोटीन की शाखाएं है, जो ध्यान से देखने पर Corona जैसा लगता है। यही कारण है कि इस वायरस का नाम कोरोना वायरस रखा है। 

तो आज हमने बताया कि कैसे इस वायरस का नाम Coronavirus रखा और यह कोरोना वायरस कहाँ से आया है। हम आशा करते है कि आपको यह पढ़ के कुछ जानकारी मिली होगी।